#hindi#poetry#shayari#poem#bookexcrepts#hritu_joshi

Heart touching love poems in Hindi

Real love can not be express with words, but at this page show how couples can express their love feelings with their partner with the help of our love Poems in Hindi. And now we have made this 2021 Best Poems on love in Hindi especially for you. So we hope you guys like this collection of love poems.

मोहब्बत जीत होती है 
मगर ये हार जाती है। 
कभी दिल सोज लम्हों से 
कभी बेकार रस्मों से 
कभी तक़दीर वालों से 
कभी मज़बूर क़समों से 
मोहब्बत जीत होती है 
मगर ये हार जाती है। 
कभी ये चाँद जैसी है 
कभी ये धूप जैसी है 
किसी का चैन बनती है 
किसी को रोल देती है 
कभी ये लम्हे पर जाती है 
कभी ये मार जाती है 
मोहब्बत जीत होती है 
मगर ये हर जाती है। 

Milon Na Kabhi Love Poems in Hindi

Milo na kabhee.
Milo na kabhee ke tumase do baat bol doon.
Khud se jo kahata hoon
Vah raaj mein khol doon.
Yah ishk hai, mohabbat hai, na jaane
Aur kya hai
Khyaalon mein, in raahon mein, bas
Unaka chehara hai.
Milo na,
Milo na ke khud ko ham ab
Khote ja rahe hain
Tanha in raaton mein, raphta raphta
Tere hote ja rahe hain.

Mere dil ki ummido ka

प्यार करके कोई जताए ये जरूरी तो नही
याद करके कोई बताये ये जरूरी तो नही
रोने वाला तो दिल में ही रो लेता है
आँख में आंसू आये ये जरूरी तो नही

Jab tak zinda hoon

दुनिया में किसी से कभी प्यार मत करना
अपने अनमोल आँसू इस तरह बेकार मत करना
कांटे तो फिर भी दामन थाम लेते हैं
फूलों पर कभी इस तरह तुम ऐतबार मत करना

Kal tak

वो मिसाल हम इश्क़ मे बनाएँगें
की आँखे जब तुम बंद करोगें तो बस हम आएँगें
इतना प्यार हम भर देंगे आपके दिल मे की
बस सब से पहले हम ही याद आएँगें

Tumhe Kya Pta
भूलना चाहो तो भी याद हमारी आएगी
दिल की गहराई मे हमारी तस्वीर बस जाएगी
ढूढ़ने चले हो हमसे बेहतर दोस्त
तलाश हमसे शुरू होकर हम पे ही ख़त्म हो जाएगी.

Sapno ki manzil

सपनों की मंज़िल पास नहीं होती
ज़िंदगी हर पल उदास नहीं होती
ख़ुदा पे यकीन रखना मेरे दोस्त
कभी-कभी वो भी मिल जाता है जिसकी आस नहीं होती

Tune hi lga diya

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है
दिल न चाह कर भी, खामोश रह जाता है
कोई सब कुछ कहकर, प्यार जताता है
कोई कुछ न कहकर भी, सब बोल जाता है

Hum to sochte the

हर शाम किसी के लिए सुहानी नही होती
हर प्यार के पीछे कोई कहानी नही होती
कुछ तो असर होता है दो आत्मा के मेल का
वरना गोरी राधा, सावले कान्हा की दीवानी न होती

Tumhe apna kahne ki

सियासी आदमी की शक्ल तो प्यारी निकलती है
मगर जब गुफ़्तगू करता है चिंगारी निकलती है
लबों पर मुस्कुराहट दिल में बेज़ारी निकलती है
बड़े लोगों में ही अक्सर ये बीमारी निकलती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *